मप्र में कोरोना ने रोका नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव, चुनाव आयोग ने तीन महीने के लिए टाला

द ग्‍वालियर। मध्‍य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव की तारीखों का इंतजार किया जा रहा था। चुनावी मैदान में उतरने वाले दावेदार भी ताल ठोकते नजर आ रहें थे, लेकिन इन दावेदार और राजनैतिक पार्टियों की तैयारियों को कोरोना वायरस ने झटका दे दिया है। राज्‍य निर्वाचन आयोग ने आज शनिवार को एक आदेश जारी कर नगरीय निकाय और त्रि-स्‍तरीय चुनाव पंचायतों के चुनाव को फरवरी 2021 तक के लिए स्‍थगित कर दिया है। इससे तय है कि अब चुनाव फरवरी माह के बाद ही संभव होंगे।

असल में राज्‍य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आदेश के पीछे कोरोना महामारी का संक्रमण है। हांलाकि आयोग ने स्‍पष्‍ट कहा है कि वह चुनाव कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है, लेकिन आयोग ने अपने आदेश में प्रदेश शासन को कहा है कि प्रदेश में संक्रमण की स्थिति पर निगरानी रखी जाए। राज्‍य शासन को यह महसूस हो कि कोरोना की स्थिति प्रदेश में सुधरी है तो वह राज्‍य निर्वाचन आयोग को फौरन जानकारी दे। आयोग चुनाव कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

407 में से 307 नगरीय निकायों का कार्यकाल समाप्‍त

प्रदेश में कुल 407 नगरीय निकाय है। इनमें से 307 का कार्याकाल 25 सितंबर 2020 को समाप्‍त हो गया है। इसके अलावा 8 नगरीय निकायों का कार्यकाल भी जनवरी व फरवरी 2021 में पूरा हो रहा है। त्रि-स्‍तरीय पंचयातों में पंच, संरपंच, जनपद सदस्‍य और जिला पंचायत सदस्‍यों का कार्यकाल भी मार्च 2020 में समाप्‍त हो चुका है। इनके साथ-साथ नवगठित 29 नगर परिषदों का चुनाव भी कराया जाना हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *