जलालपुर में रेत माफिया ने की पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग, थाना प्रभारी ने नाले में कूदकर बचाई जान

पुरानी छावनी थाना प्रभारी को अस्‍पताल में कराया गया भर्ती। सूचना पर शहरभर का पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा तो खेतों में दौड़ा दी गाड़ियां।   

द ग्वालियर। जलालपुर में चंबल से अवैध उत्‍खनन कर रेत ला रहे माफिया ने रोके जाने पर पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। गोली बारी के बीच पुरानी छावनी थाना प्रभारी (टीआई) सुधीर सिंह घिर गए। रेत माफिया ने टीआई को जमकर पीट और ट्रैक्टर से कुचलने की कोशिश की। टीआई ने नाले में कूदकर अपनी जान बचाई। जवाब में पुलिस ने भी फयरिंग की। 

वायरलेस सेट पर घटना की सूचना मिलते ही आसपास के थानों और लाइन से फोर्स मौके पर पहुंचाया गया। पुलिस ने घेराबंदी की तो रेत माफिया गाड़ियों को खेतों में दौड़ाकर भागे, लेकिन रेत से भरे 5 ट्रैक्टर-ट्रॉली पुलिस ने पकड़े हैं। इसके अलावा 6 बदमाश, दो कट्‌टे व काफी मात्रा में कारतूस भी जब्‍त हुए हैं। घटना के बाद सक्रिय हुई पुलिस ने 8 लोगों को पकड़ने में सफलता पाई है।

एसपी सांघी ने के निर्देश पर संभाला मोर्चा

दतिया में गुरुवार को पुलिस जवान को रेत माफिया ने गोली मारी थी। इस घटना के बाद ग्वालियर एसपी अमित सांघी ने शहर के हाइवे पर रेत माफिया के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए थे। इसी आदेश के तहत पुरानी छावनी थाना टीआई सुधीर सिंह कुशवाह शुक्रवार सुबह जलालपुर स्थित रेलवे पुल के पास फोर्स लेकर घेराबंदी के लिए पहुंच गए। पुलिस को इनपुट था कि यहां से दर्जनों रेत से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली निकलते हैं। रेत माफिया को घेरने के लिए दोनों रास्तों पर डंपर आड़े खड़े कर रास्ता बंद कर दिया गया। इसी समय वहां से रेत से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली निकले। रेत माफिया ने खुद को घिरा पाया तो वापस लौटने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो सके। रेत की गाड़ियों के आगे चल रहे बाइक सवारों ने पुलिस पार्टी पर हमला बोल दिया। उन्‍होंने पुलिस पर पथराव करते हुए फायरिंग शुरू कर दी।

टीआई को ट्रैक्टर से कुचलने का प्रयास, नाले में कूदे

टीआई पुरानी छावनी रेत माफिया के बीच में घिर गए। रेत माफिया ने ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर भागने का प्रयास किया। टीआई ने रोकने की कोशिश की तो उन्हें कुचलने का प्रयास किया। टीआई ने नाले में कूदकर अपनी जान बचाई। साथी पुलिस कर्मियों ने तत्काल टीआई को बचाया और गोला का मंदिर बिड़ला अस्पताल पहुंचाया है। रेत माफिया के हमले से बचने के लिए आखिर पुलिस को भी गोली चलाना पड़ी। पुलिस बल बढ़ता देख रेत माफिया में खलबली मच गई। कुछ गाड़ियां छोड़कर तो कुछ गाड़ियों को खेतों में दौड़ाते हुए भागे। पुलिस ने रेत माफिया को सड़क पर दौड़ा-दौड़ा का पीटा और पकड़ा है।

आईपीएस की कर चुके हैं हत्या

पुरानी छावनी थाना क्षेत्र के निरावली तिराहे पर वर्ष 2016 में रेत माफिया ने मुरैना से पीछा करते हुए आ रहे वन कर्मी की कुचलकर हत्या की थी। इससे पहले पुरानी छावनी थाने से सटे बानमौर थाना क्षेत्र में खनन माफिया पर कार्रवाई करने पहुंचे आईपीएस नरेंद्र कुमार को भी खनन माफिया ने ट्रैक्टर से कुचलकर मार डाला था। एक दिन पहले दतिया में भी पुलिस जवान को रेत माफिया ने गोली मारी थी।

इनका कहना है

जलालपुर में रेत माफिया को रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने पुलिस पर हमला कर दिया। इस घटना में टीआई पुरानी छावनी को चोट आई है। पुलिस ने 8 रेत माफियों का गिरफ्तार कर कट्टे व कारतूस बरामद किये हैं। माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई जारी रहेगी।

अमित सांघी, एसपी ग्वालियर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *