भोपाल : गणतंत्र दिवस पर प्लास्टिक के झंडे का विक्रय प्रतिबंधित

सभी राजस्व, नगर निगम के अधिकारी रखेंगे निगाह

कलेक्टर लवानिया ने गणतंत्र दिवस की तैयारियों की समीक्षा की

द ग्‍वालियर। भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने सभी राजस्व और नगर निगम के अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि शहर में गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्लास्टिक के राष्ट्रीय झंडे नहीं बिकने दे और सभी लोगों से पर्यावरण की सुरक्षा के लिए अपील भी करें कि कोई भी प्लास्टिक के झंडों का उपयोग नहीं करें और ना ही करने दे। जो कोई भी व्यक्ति प्लास्टिक के झंडे बेचता हुआ पाया जाएगा उसके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

          कलेक्टर लवानिया ने इस संबंध में अधिकारियों को दिये गये निर्देशों में कहा है कि 26 जनवरी को विक्रय किये जाने वाले राष्ट्रीय ध्वज सही आकार के होना चाहिए। झंडे की लंबाई एवं चौड़ाई में निर्धारित अनुपात होना चाहिए। राष्ट्रीय ध्वज की आचार संहिता का पालन कराए और इस बारे में विक्रय कर्ता को भी जानकारी दे। जो कोई भी व्यक्ति इन निर्देशों का उल्लंघन कर गलत आकार एवं प्लास्टिक के झंडे बेचता हुआ पाया जायेगा तो उसके विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।

26 जनवरी को सुबह 9:00 बजे से लाल परेड ग्राउंड पर होगा विशेष कार्यक्रम

कलेक्टर अविनाश लवानिया ने गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी अधिकारी जिनको परेड ग्राउंड के उत्तरदायित्व सौंपे गए हैं वह सभी समय पर उपस्थित रहें । रविवार 24 जनवरी की सुबह 8:30 बजे से गणतंत्र दिवस परेड की फाइनल रिहर्सल होगी। समय पूर्व सभी अधिकारी परेड ग्राउंड पहुंचकर अपनी व्यवस्थाओं को चेक कर लें और तैयारियों को अंतिम रूप दें। बैठक में अपर कलेक्टर दिलीप यादव, आशीष वशिष्ठ, एसडीएम, तहसीलदार और अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर ने कहा कि गणतंत्र दिवस समारोह के बाद स्वतंत्रता सेनानियों, लोकतंत्र रक्षक सेनानियों का सम्मान उनके निवास पर जाकर किया जाएगा इसके लिए संबंधित अधिकारियों को सूची उपलब्ध करा दी गई है। सभी अधिकारी पूर्व में ही संबंधित परिवारों को सूचित कर दें और गणतंत्र दिवस के दिन स्वतंत्रता सेनानियो, लोकतंत्र रक्षक सेनानियों का शाल और श्री फल से सम्मान करें। सभी कार्यालयों में लाइटिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इसके साथ ही जिन कार्योंलयो में झंडा वंदन होता है उसके आस पास साफ- सफाई की व्यवस्था करे और राष्ट्रीय ध्वज की आचार संहिता अनुसार झण्डा वंदन करे। साथ ही शाम को ध्वज उतारने के लिए भी कर्मचारी की ड्यूटी लगाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!