आटे की फैक्ट्री में मिला एमपी और दिल्लीर सरकार का गेहूं! मकड़ी के जालों के बीच हो रही थी पिसाई

खाद्य विभाग की टीम को मौके से मिला 150 क्विंटल खराब गेहूं। टीम ने बाराघाटा स्थित कई और फैक्ट्रियों का निरीक्षण की सैंपल भी लिए।  

द ग्‍वालियर। जिला प्रशासन की टीम ने आटा फैक्ट्री पर छापा मारकर मध्‍य प्रदेश, उत्‍तर प्रदेश और दिल्‍ली सरकार की सील लगी सैकड़ों क्विंटल गेहूं की बोरियों को जब्‍त किया है। फैक्ट्री संचालक बिना लायसेंस के अवैध फैक्ट्री का संचालन कर खराब गेहूं पीसकर आटा बाजार में बेच रहा था। गेहूं और आटे के सैंपल लेने के बाद फैक्ट्री को सील्‍ड कर दिया गया है।

डिप्‍टी कलेक्‍टर एवं अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा संजीव खेमरिया की टीम ने मंगलवार को बाराघाटा स्थित फैक्ट्रियों पर छापा मारा। इस दौरान एक आटा फैक्ट्री में टीम को गेहूं की पिसाई करके गुलाब ब्रांड का आटा पैकिंग होते मिली। आटा पीसने में गेहूं बेहद घटिया क्‍वालिटी का उपयोग किया जा रहा था। फैक्ट्री में मकड़ी के जाले एवं गंदगी का अंबार लगा हुआ था।

खाद्य विभाग की टीम को मौके से 150 क्विंटल गेहूं की बोरियां मिलीं। बोरियों पर मध्‍य प्रदेश, उत्‍तर प्रदेश और दिल्‍ली सरकार की सील लगी हुई थी। मौके पर सागर गुप्‍ता नाम का व्‍यक्ति मिला, जिससे लाइसेंस एवं अन्‍य दस्‍तावेज मांगने पर वह नहीं दिखा पाया। उसने बताया कि फैक्ट्री एसआर फूड के नाम पर है, जिसका मालिक महेंद्र गुप्‍ता हैं। डिप्‍टी कलेक्‍टर संजीव खेमरिया ने गेहूं एवं आटा के सैंपल लेने के बाद तहसीलदार कुलदीप दुबे को बुलाकर फैक्ट्री को अवैध रूप से संचालित करने एवं अनियमितता पाए जाने पर सील्‍ड करवा दिया है।

मसालों और टॉफियों के लिए भी सैंपल

खाद्य विभाग की टीम ने बाराघाटा स्थित हरीराम भाटिया फ्लोर मिल पर भी जांच की। फ्लोर मिल के मालिक राजकुमार भाटिया हैं। फ्लोर मिल में मिर्च, हल्‍दी, धनिया, गर्म मसालों का निर्माण एवं प्रोसेसिंग कार्य भाटिया ब्रांड के नाम होता था। जांच टीम ने फ्लोर मिल से सैंपल एकत्रित किए। इसके बाद टीम एग्रो कास्टिक इंडस्ट्रीज में भी जाकर जांच की। इंडस्ट्रीज के मालिक सूबेदार सिंह सिकरवार खट्टी मीठी गोलियों को निर्माण करते हैं। टीम ने मौके से दो सैंपल लिए। खाद्य विभाग की एक टीम ने टीपी नगर स्थित गार्गी फूड्स में भी निरीक्षण किया। गार्गी फूड्स पवन गुप्‍ता की है, जहां गुलाब जामुन पाउडर, छेना पाउडर का दूभ भोग नाम से ब्रांड निर्माण किया जाता है। निरीक्षण उपरांत खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजेश कुमार गुप्‍ता ने प्रोडक्‍ट के नमूने लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *