कांग्रेस के बंद का मिला-जुला असर, आधा शटर खोलकर चलती रहीं दुकानें

दोपहर 2 बजे तक बंद के चलते प्रमुख बाजारों के दुकानदारों ने दोपहर 1 बजे के बाद खोली दुकान। पेट्रोल पंप, मेडिकल, डेयरी सहित इमरजेन्सी सेवा के प्रतिष्ठान खुले

द ग्वालियर। कांग्रेस का आधे दिन का बंद मिला-जुला रहा। शहर में कांग्रेसी झंडा और डंडा लेकर दुकानें बंद कराने निकले। कांग्रेसी विधायक एवं वरिष्‍ठ नेताओं के नेतृत्‍व में टोलियों में सुबह से ही सड़कों पर आ गए। उन्‍होंने शहरभर में घूम-घूमकर दुकानें बंद करवाई। बावजूद इसके शहर की अधिकांश दुकान आधा शटर खोलकर चलती रहीं। पेट्रोल पंप, मेडिकल, दूध डेयरी सहित रोजमर्रा की जरूरतों की दुकानें पूर्ण खुली रहीं।   

शनिवार को कांग्रेस ने रसोई गैस, पेट्रोल-डीजल के आसमान छूते दामों और महंगाई के विरोध में आधे दिन का बंद रखा था, इसलिए अधिकांश व्‍यापारियों ने स्‍वेच्‍छा से ही दोपहर बाद दुकानें खोलीं। दाल बाजार, लोहिया बाजार, सराफा बाजार, डीडवाना ओली, सुभाष मार्केट आदि बाजार दोपहर 1 बजे तक पूरी तरह बंद रहे। बाकी दुकानदारों ने सुबह दुकान खोलने का प्रयास किया, लेकिन कांग्रेसियों ने डंडे और झंडे की दम पर उन्‍हें भी बंद करवा दिया। पर कांग्रेसियों के जाते ही फिर से दुकान खोल ली।

चूंकि कांग्रेसियों की हर टोली के साथ पुलिस चल रही थी, इसलिए शहर में किसी भी अप्रिय घटना नहीं घटी। विधायक डॉ. सतीश सिंह सिकरवार ने अपनी विधानसभा क्षेत्र में कार्यकर्ताओं को लेकर दुकानों को बंद करवाया। वहीं, विधायक प्रवीण पाठक, पूर्व मंत्री लाखन सिंह यादव, शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष देवेन्द्र शर्मा, महाराज सिंह पटेल, सुनील शर्मा, रश्मि पवार शर्मा सहित अन्य कांग्रेसी नेता भी अपने-अपने क्षेत्रों में बाजार बंद कराते दिखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *