15 करोड की सरकारी जमीन पर विधायक की कट रहीं थी कॉलोनी, जेसीबी चलाकर जिला प्रशासन ने फेल कर दी पूरी प्लाानिंग

एंटी माफिया अभियान के तहत ग्‍वालियर में करोडो रूपए की जमीन भू माफिया से छुडाई

द ग्‍वालियर। जिला प्रशासन ने एंटी माफिया अभियान के तहत आज एक बडी कार्रवाई को अंजाम देकर जनता द्वारा चुने गए एक जनप्रतिधि का प्‍लान फेल कर दिया है। जिला प्रशासन के पास दो लिखित आवेदन पंहुचे। दोनो आवेदन में बताया गया कि विक्रमपुर में एक कॉलोनी काटी जा रहीं है। इस कॉलोनी में उन्‍होने प्‍लॉट खरीदे है। लिहाजा शिकायत कर्ताओं ने कलेक्‍टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह से खुद के साथ हुई इस धोखाधडी के खिलाफ कार्रवाई करने का आवेदन दिया।

इतना ही नहीं इस मामले शिकायतकर्ताओं ने दिए गए आवेदन में विधायक अजब सिंह कुश्‍वाह द्वारा प्‍लॉट खरीदे जाने की बात कही। मामले की जांच के बाद आवेदन कर्ताओं द्वारा खरीदे गए प्‍लॉट सरकारी निकले।लिहाजा कलेक्‍टर के निर्देश पर एसडीएम पुष्‍पा पुशाम पूरे दल बल के साथ आज विक्रमपुर गॉव पंहुची।

मौके पर पंहुचते ही सरकारी जमीन पर जेसीबी का पंजा चलाया गया। सरकारी जमीन को अतिक्रमण मुक्‍त कराए जाने की कार्रवाई की गई। करीब 15 करोड सरकारी जमीन से भूमाफिया का कब्‍जा हटाया गया। इस कार्रवाई के दौरान तहसीलदार नरेश गुप्‍ता, पटवारी ज्ञान सिंह राजपूत सहित कई प्रशानिक अमला मौजूद रहा।

आवेदन पर ऐसे खुला कब्‍जे का राज

क्रष्‍ण कांत त्‍यागी और मुन्‍नी देवी ने लिखित बताया कि ग्राम विक्रमपुर में उन्‍होने रमेश त्‍यागी, अजब सिंह कुश्‍वाह और अनिल सिंह के जरिए प्‍लॉट खरीदा है। जिला प्रशासन इसकी जांच की तो पाया खरीदे गए प्‍लॉट जिस सर्वे नंबर पर है वह सरकारी है। जांच में पाया गया कि विक्रमपुर गॉव में सर्वे नंबर 230, 231, 233, 234 और 237 कुंज विहार कॉलोनी निवासी भूपेंद्र सिंह गुर्जर के नाम पर दर्ज है।

जबकि इसी निजी जमीन से लगे हुए सरकारी सर्वे नंबर 235 जो कि नाला है और 214 जो नगर निगम को आवंटित हैं। यह दोनो सरकारी सर्वे नंबर की जमीन पर अतिक्रमण किया गया है। इसी से लगी हुई सरकारी जमीन सर्वे क्रमांक 206, 207, 208, 209 और 210 पर भी कब्‍जा हैं। स्‍थानिय लोगों के मुताबिक यह कब्‍जा मंगे भदौरिया द्वारा किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *