सिद्ध बाबा मंदिर के पुजारी की हत्या, सिर पर धारदार हथियार के कई निशान

पुलिस को मौके से नहीं मिली कोई सुराग। हत्या करने के बाद रजाई उड़ाकर चले गए हत्यारे। सुबह मंदिर आने वालों ने दी पुलिस को सूचना।

द ग्वालियर। शहर हस्तिनापुर थाना क्षेत्र में डंगोरा गांव के सिद्ध बाबा मंदिर के पुजारी की अज्ञात लोगों ने धारदार हथियार से हत्या कर दी। पुजारी के सिर और चेहरे पर किसी धारदार हथियार के निशान हैं। ग्रामीणों को घटना का पता शनिवार सुबह चला, जब वह पूजा करने मंदिर पहुंचे। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच में जुट गई, लेकिन शाम तक हत्याा करने वालों का कोई सुराग नहीं मिला। 

डंगोरा निवासी जसवंत उर्फ जानकीदास गुर्जर पुत्र जत्थाराम गुर्जर (85) गांव में स्थित सिद्ध बाबा मंदिर के पुजारी थे। कई साल से मंदिर की देखरेख व पूजा अर्चना कर रहे थे। शुक्रवार रात आरती के बाद पुजारी मंदिर में ही सो गए थे। सुबह करीब सात बजे जब गांव के वकील सिंह गुर्जर व अन्य लोग मंदिर पहुंचे तो बाबा रजाई ओढ़कर लेटे हुए दिखे। लोगों को लगा सुबह 4 बजे जागकर मंदिर की साफ-सफाई करने वाले बाबा इतनी देर तक क्यों सो रहे हैं।

जब उन्होंजने रजाई हटाई तो पुजारी का चेहरा खून से सना हुआ था। नब्ज टटोली तो सांस थम चुकी थी। मामले की सूचना मिलते ही हस्तिनापुर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने फोरेंसिक टीम को भी बुलवा लिया। हत्यारों ने उनके सिर और चेहरे पर कई घाव किए हैं। पुलिस को मौके से कोई हथियार भी नहीं मिला है।

पुलिस ने प्रारंभिक जांच पड़ताल में अब तक ऐसा कोई सबूत हाथ नहीं लगा है, जिससे हत्या का कारण और हत्यारों तक पहुंचा जा सके। पुलिस ने जो जानकारी जुटाई, उसके अनुसार महंत जानकीदास के नाम गांव में ही 8 से 10 बीघा पुस्तैनी जमीन है। इसकी कीमत करीब पचास लाख है। उनकी एक बहन है, जिसकी शादी हो चुकी है। जानकीदास के बाद  इस जमीन का कोई वारिस नहीं है, इसलिए यह भी माना जा रहा है कि जमीन कब्जाने के लिए तो कहीं यह हत्या नहीं की। दूसरा एंगल नशेड़ियों पर भी जा रहा है। हो सकता है कि नशे की हालत में विवाद होने पर उन्होंने पुजारी की हत्या की हो। वहीं थाना प्रभारी उदयवीर सिंह तोमर का कहना है कि महंत जानकीदास की हत्या का कारण और हत्यारों का सुराग नहीं लगा है। विस्तृत पड़ताल के बाद ही इस अंधे कत्ल का खुलासा हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *