रेलवे टिकट की दलाली करने पर जय बाबा ट्रेवल्स संचालिका गिरफ्तार

IRCTC की एजेंट आईडी की आड़ में पर्सनल आईडी पर टिकट निकालकर प्रति यात्री वसूलते थे 200 से 250 रुपए।   

द ग्‍वालियर। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने स्‍टेशन बजरिया स्थित जय बाब ट्रेवल्स पर छापा मारा। जहां आईआरसीटीसी की कई पर्सनल यूजर आईडी (IRCTC User ID) से 200 से 250 रुपए प्रतियात्री अधिक लेकर रेल यात्रा टिकट बेचे जा रहे थे। आरपीएफ ने कई टिकट के साथ ट्रेवल्स संचालक एक महिला और युवक को गिरफ्तार किया है। ट्रेवल्स संचालक रेलवे एजेंट आईडी की आड़ में पर्सनल आईडी से टिकट की ब्‍लैक करते थे।   

आरपीएफ पोस्‍ट ग्‍वालियर प्रभारी आनंद पांडेय को सूचना मिली कि रेलवे स्‍टेशन बजरिया में जय बाबा ट्रेवल्स पर कीमत से अधिक राशि लेकर रेल टिकट बेचे जा रहे हैं। सूचना पर निरीक्षक डिटेक्टिव विंग ग्वालियर अवधेश गोस्वामी और ग्‍वालियर पोस्‍ट के उप निरीक्षक अजय कुमार, केदार मीना, आरक्षक राजकुमार तोमर, शिवनंदन, वरुण कुमार दीक्षित एवं महिला आरक्षक सोनिका के साथ जय बाबा ट्रेवल्स दबिश दी। वहां ट्रेवल्स संचालक एक महिला रंजीता गुप्‍ता (45) और एक व्‍यक्ति मनीष बाथम (30) मिले। दोनों को गिरफ्तार करने पर उन्‍होंने कई पर्सनल आईडी से रेल टिकट बेचने की बात कबूल की।

छानबीन करने पर ट्रेवल्स के कंप्‍यूटर से चार पर्सनल यूजर आईडी से बनाए गए 20,177 रुपए कीमत की 15 टिकिट बरामद किए। यूजर से बनाए गए अन्‍य टिकट और कीमत की जानकारी आईआरसीटीसी दिल्‍ली से निकलवाई जा रही है। आरपीएफ ने ट्रेवल्स की दुकान से टिकट बनाने में प्रयोग 02 कंप्‍यूटर, 01 प्रिंटर, 01 मोबाइल, 01 की-पैड मोबाइल बरामद किया है। आरपीएफ ने रेलवे एक्‍ट की धारा 143 के तहत प्रकरण दर्ज कर रेलवे टिकट ब्‍लैक करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।   

ग्राहकों के फोन नंबर से बनाते थे यूजर आईडी

ट्रेवल्स संचालक बड़ी चालाकी से उनके यहां टिकट बनवाने आने वालों का मोबाइल नंबर लेकर आईआरसीटीसी की पर्सनल आई बनाते थे। उसके बाद उस आईडी का उपयोग खुद अन्‍य टिकट बनाने में करते थे।    

एजेंट आईडी पर भी वसूलते थे अधिक राशि

छानबीन और पूछताछ में पता चला है कि जय बाबा ट्रेवल्स संचालक ने रेलवे से एजेंट आईडी भी ले रखा है। उस आईडी से निकलने वाले टिकट पर 20 रुपए चार्ज लगता है, जो टिकट में ही शामिल होता है। पर महिला एजेंट आईडी पर भी प्रति व्‍यक्ति 200 से 250 रुपए अधिक लेती थी।

IRCTC से निकलवा रहे डाटा

जय बाबा ट्रेवल्स संचालक बेहद शातिर है। उसने अधिकांश टिकट का डाटा डिलीट कर दिया है, इसलिए IRCTC से इनके द्वारा प्रयोग में लिए गए यूजर आईडी से निकाले गए टिकट और उसकी कीमत का पता लगवाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *