ग्वालियर हाईकोर्ट ने दिया डबल मर्डर मामले में थाना प्रभारी को नोटिस

32 साल पहले हुए डबल मर्डर के मामले में न्यायालय के आदेश के बाद भी तमिलनाडु की जेल में बंद आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किए जाने पर प्रस्तुत की गई अवमानना याचिका।

राजेंद्र तलेगांवकर। मध्‍य प्रदेश उच्‍च न्‍यायालय खंडपीठ ग्‍वालियर (MP High Court Bench Gwalior) ने 32 साल पहले हुए डबल मर्डर (Double Murder) के मामले में न्यायालय के आदेश के बाद भी तमिलनाडु की जेल (Tamil Nadu Jail) में बंद आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किए जाने पर प्रस्तुत की गई अवमानना याचिका (Contempt petition) पर थाना प्रभारी (Gwalior Police) को अवमानना का नोटिस जारी किया गया है।

सोडा कुआं पर हुए डबल मर्डर मामले में थाना प्रभारी दीपक यादव को नोटिस जारी करते हुए ग्‍वालियर हाईकोर्ट ने 4 सप्ताह में जवाब पेश करने को कहा है। याचिकाकर्ता के अधिवक्ता आरके सोनी एवं अभिषेक बिंदल का कहना था कि आरोपियों के जेल में बंद होने के बाद भी पुलिस उन्हें वारंट लेकर गिरफ्तार करने नहीं जा रही है, जो कि न्यायालय की अवमानना है।

उपनगर ग्वालियर के सोडा कुआं के पास रहने वाले रमेश चंद गोयल के निवास पर 6 मई 1988 को पड़ी डकैती में डकैतों ने रमेश चंद्र गोयल उनकी पत्नी बसंती देवी की हत्या कर दी थी और 80,00,000 रुपए कीमत के सोना एवं चांदी के जेवर लूट कर ले गए थे। पुलिस में 1990  से 94 के बीच इस मामले के 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया था, जो की जमानत पर रिहा होने के बाद फरार हो गए थे। एक अन्य आरोपी साक्ष्य के अभाव में 2008 में ही बरी हो गया था। मृतक के बेटे ने इस मामले के अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एक याचिका प्रस्तुत की थी, जिस पर न्यायालय ने आरोपी को गिरफ्तार करने के आदेश दिए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *