असहाय बुजुर्गों के घर राशन लेकर पहुंची जिला प्रशासन की टीम, बुजुर्गों ने भावुक हो दिया आर्शीवाद

अब आशीर्वाद योजना के तहत प्रत्‍येक माह की 6 तारीख को ग्‍वालियर जिले के 3 हज़ार 607 असहाय बुजुर्ग व दिव्यांग को घर बैठे मिलेगा राशन

द ग्‍वालियर। माताजी बाहर आइए हम आपका राशन लेकर आए हैं। यह आवाज सुनकर सरस्वती देवी ने झांककर देखा तो पाया अधिकारी-कर्मचारियों की टीम थैले लिए द्वार पर खड़ी है। सरस्वती देवी ने सोचा उचित मूल्य की दुकान से भला उन्हें राशन देने कोई क्यों आएगा ?  पर उनका यह संदेह थोड़ी ही देर में तब भरोसे में बदल गया जब अपर कलेक्टर टीएन सिंह ने उन्हें सम्मानपूर्वक राशन की किट सौंपी। इस किट में 35 किलोग्राम खाद्यान्न एवं एक किलो शक्कर व इतना ही नमक था। अधिकारियों ने सरस्वती देवी को बताया कि हम आशीर्वाद योजना के तहत आपके हिस्से का राशन लेकर आए हैं। अब से हर महीने आपको घर बैठे ही राशन मिलेगा।

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह की पहल पर ग्वालियर जिले में आशीर्वाद योजना शुरू हुई है। पिछले हफ्ते ग्वालियर प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस योजना का शुभारंभ किया था। चलने-फिरने में असमर्थ 65 से अधिक उम्र के असहाय बुजुर्ग एवं दिव्यांगजनों को सरकारी कर्मचारी इस योजना के तहत हर माह उचित मूल्य की दुकान से राशन लेकर उनके घर देने जाएंगे।

बहोड़ापुर स्थित मानवसेवा कुष्ठ आश्रम में निवासरत असहाय लोगों को राशन देने के लिए रविवार को अपर कलेक्टर टीएन सिंह के नेतृत्व में जिला प्रशासन का दल पहुंचा था। इस दल ने सरस्वती देवी सहित हरपाल सिंह, श्यामलाल, अमर सिंह, गणेशराम व धुकेश्वर को राशन की किट सौंपी। राशन देने के लिए कर्मचारी पीओएस मशीन लेकर भी पहुंचे थे, जिसके जरिए सभी का सत्यापन कराया गया। सरस्वती देवी सहित कुष्ठ आश्रम के अन्य रहवासियों को जब  राशन मिला तो सभी भावुक हो गए और वे आशीर्वाद देते नहीं थक रहे थे। मानवसेवा कुष्ठ आश्रम के रहवासी बहोड़ापुर की शासकीय उचित मूल्य की दुकान नेहा महिला उपभोक्ता भंडार से जुड़े हैं।

संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एवं कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास राजीव सिंह ने बताया कि ग्वालियर नगर निगम क्षेत्र में 404 असहाय बुजुर्ग एवं दिव्यागों को चिन्हित किया गया है। इन सभी को घर बैठे ही हर माह की 6 तारीख को राशन मुहैया कराया जाएगा। आशीर्वाद योजना के तहत जिले में कुल मिलाकर 3 हज़ार 607 असहाय बुजुर्ग व दिव्यांग चिन्हित किए गए हैं। इन सभी के यहां हर माह राशन पहुंचाने के लिए विशेष नोडल अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। रविवार को मानवसेवा कुष्ठ आश्रम के रहवासियों को राशन देने पहुंचे जिला प्रशासन के दल में संबंधित सहायक आपूर्ति अधिकारी एवं नोडल अधिकारी माया राठौर शामिल थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *