मध्यप्रदेश में महिला उद्यमियों के लिए शासन से मिलकर नया औद्योगिक क्षेत्र बनाएं कैट : आनंदीबेन पटेल

कैट की राज्य स्तरीय महिला उद्यमी सम्मेलन में वोकल फॉर लोकल के माध्यम से आत्म निर्भंर मध्यप्रदेश बनाने के लिए महिला उद्यमी कार्य करें।

द ग्वालियर। मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा आयोजित वर्चुअल राज्य स्तरीय महिला उद्यमी सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए कहा कि कैट मध्यप्रदेश सरकार के साथ मिलकर महिला उद्यमियों के लिए छोटे-छोटे प्लॉट निर्माण कर एक महिला उद्यमी औद्योगिक क्षेत्र विकसित करे, जहां राज्य सरकार महिलाओं को निःशुल्क प्लॉट दे और उन्हें सब्सिडी दें, ताकि महिलाएं प्रधानमंत्री के वोकल फॉर लोकल के आधार पर आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण में सहभागी बन सकें।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस प्रकार प्रावधान करे कि कोई भी परिवार यदि महिलाओं के नाम से, बहू के नाम से, बेटी के नाम से संपत्ति खरीदता है अथवा किसी भी प्रकार का उद्यम स्थापित करता है या उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए किसी भी प्रकार से आर्थिक सक्षम बनाता है तो उन सभी चीजों पर शासन करों में विशेष छूट प्रदान करेगा, ताकि महिलाओं को बराबर की हिस्सेदारी मिल सके और वे आत्मनिर्भर बन सकें। उन्होंने मध्यप्रदेश के सभी व्यापारी और उद्योगपतियों से कहा कि अपने बैंक एकाउन्ट में साझेदारी के रूप में यदि वे पत्नी का नाम रखते हैं तो वे अपने परिवार की महिलाओं को विशेष सम्मान देते हैं।

इस अवसर पर उन्होंने कैट के द्वारा मध्यप्रदेश की महिला उद्यमियों के लिए किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि मैं तीसरी बार कैट के कार्यक्रम में सम्मिलित हुई हूं और मुझे प्रसन्नता है कि कोविड-19 के बाद महिलाओं ने स्वयं के स्वरोजगार खड़े किए, जितनी भी महिलाओं के प्रजेंटन्टेशन मैंने देखे, निश्चित रूप से मैं कह सकती हूं कि यदि मध्यप्रदेश शासन सहयोग के लिए तत्पर होगा तो मध्यप्रदेश में महिला उद्यमियों का एक विशेष स्थान रहेगा। उन्होंने कहा कि हम गरीब और जरूरतमंद महिलाओं को स्वराजगोर स्थापित करने के लिए बड़ी बड़ी कंपनियों से सहयोग दिला सकते हैं और ये सहयोग पार्टनरशिप के रूप में, संरक्षक के रूप में रहेगा। उन्होंने राज्य सरकार से अनुरोध किया कि विभिन्न प्रकार की महिला प्रदर्शनी लगाकर महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करें और मध्यप्रदेश की महिला उद्यमी जिन राज्यों में प्रदर्शनी लगाती हैं तो उन्हें आने-जाने का किराया, उस राज्य में ठहरने की व्यवस्था ये सभी राज्य सरकार को करना चाहिए।

मध्यप्रदेश एवं उत्तरप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने इस बात पर प्रसन्नता जाहिर की कि कैट मध्यप्रदेश की टीम जिसमें अध्यक्ष भूपेन्द्र जैन और सभी मिलकर महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं। ये पुरुषों का सहयोग है जो प्रदेश की महिलाओं को आगे बढ़ा रहा है। हम प्रशिक्षण के माध्यम से उन्हें और सक्षम बनाएं, उनके प्रॉडक्ट की मार्केटिंग के लिए एक ऐसा प्लेटफॉर्म तैयार करें, जहां वे आगे बढ़ सकती हैं।

इस वर्चुअल राज्य स्तरीय महिला उद्यमी सम्मेलन में 487 महिला उद्यमियों ने पंजीयन कराकर सहभागिता की। प्रारंभ में राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य कविता जैन ने स्वागत भाषण रखा। कार्यक्रम संयोजक अंशु गुप्ता ने राज्य स्तरीय महिला उद्यमी सम्मेलन की रूपरेखा प्रस्तुत की। विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि मध्यप्रदेश शासन के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह आत्म निर्भर मध्यप्रदेश के रोडमैप में इस बात का स्पष्ट उल्लेख करें। जो महिला उद्यमी अपना कार्य स्थापित करना चाहती हैं, उन्हें संबंधित विभाग का पूरा सहयोग प्राप्त होगा और शासकीय कार्यालय में एक स्वच्छ वातावरण उन्हें उपलब्ध होगा, ताकि वे आत्म निर्भर बन सकें।

विशिष्ट अतिथि के रूप में कैट मध्यप्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र जैन ने कहा कि हम निरंतर महिला उद्यमियों के प्रोत्साहन के लिए कार्य करेंगे और प्रदेश में लगभग 4 प्रमुख मुख्यालयों पर महिला उद्यमी औद्योगिक क्षेत्र विकसित हों इसके लिए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह एवं एमएसएमई मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा से मिलकर कार्ययोजना को आगे बढाएंगे। इस अवसर पर वर्चुअल राज्यस्तरीय सम्मेलन का कोर्डिनेशन मनोज चौरसिया ने किया। राज्यस्तरीय सम्मेलन का संचालन कैट की प्रदेश उपाध्यक्ष अंशु गुप्ता ने किया। आभार प्रदर्शन कैट की वरिष्ठ उपाध्यक्ष अलका श्रीवास्तव द्वारा किया गया।

इन महिला उद्यमियों के हुए प्रजेन्टेशन

कैट के राज्यस्तरीय महिला उद्यमी सम्मेलन में रानी बंसल ग्वालियर ने आयुर्वेद हर्बल प्रॉडक्ट पर अपना प्रजेन्टेशन दिया। शुभम बढेरिया ने ज्वैलरी विषय पर प्रजेन्टेशन दिया। मोना कटारिया ने फूड टेक्नोलॉजी पर प्रजेन्टेशन दिया। अंजना खंडेलवाल ने बायो डीजल पर अपना प्रजेन्टेशन दिया। विशाखा श्रीवास्तव ने अपने उद्यम के बारे में अवगत कराया।

इन महिलाओं का हुआ सम्मान

मध्यप्रदेश की 11 महिला उद्यमियों का विशेष उपलब्धियों के लिए सम्मान किया गया। इनमें अनघा देशपांडे, भूमिका बिरथरे, नीता गोयल, रीना गांधी, श्रीमती बबीता डाबर, मेघा सोनी, शिवा गुप्ता, शुभम बारडीया, मोनिका अवस्थी, कविता जैन, आस्मा मोहन प्रमुख थीं।

राज्यस्तरीय महिला उद्यमी सम्मेलन में इन्होंने किया संबोधित

महिला उद्यमी सम्मेलन को कैट की राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष सीमा सेठी जयपुर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष काजल आनंद मुम्बई, बिहार कैट की उपाध्यक्ष इंदु अग्रवाल पटना, रूबी गुप्ता ग्वालियर, ज्योति गुप्ता, रानीगंज पश्चिम बंगाल की दीप्ती शाह ने भी संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!