उपचुनाव : गद्दार और बिकाऊ की बात छूटी, अब “आइटम” बना चुनावी मुद्दा

रविवार को कमलनाथ ने इमरती देवी के खिलाफ विवादित टिप्पणी कर दी। अब भाजपा ने उसे मुख्य चुनावी हथियार बना लिया है। अब गद्दार, वादा खिलाफी और विकास का मुद्दा ओझल हो गया है।

द ग्वालियर। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने कैबिनेट मंत्री एवं भाजपा प्रत्‍याशी इमरती देवी (Imarti Devi) को रविवार को डबरा में हुई सभा में आइटम (Item) कहकर विधानसभा चुनाव (MP by election) को नया मोड़ दे दिया है। भाजपा (BJP) ने इस विवादित टिप्पणी को अब मुख्य चुनावी हथियार बना लिया है।

सोमवार को एक और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) भोपाल में धरना दे रहे हैं तो ग्वालियर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा (BD Sharma) के नेतृत्व में फूलबाग चौराहा पर मौन धरना दिया जा रहा है।

भाजपा का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने न केवल गरीब, दलित महिला का बल्कि समस्त बहन, बेटियों का अपमान किया है। यह बहन बेटियों की इज्जत से जुड़ा मामला है। कमलनाथ पश्चाताप नहीं कर रहे हैं, इसलिए भाजपा पश्चाताप कर 2 घंटे का मौन धरना दे रही है।

उधर, चुनाव का संखनाद होने से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया व कांग्रेसी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए विधायकों को गद्दार और बिकाउ कहकर कांग्रेस मैदान में उतरी थी, लेकिन धीरे-धीरे भाजपा पलटवार करती गई और इस मुद्दे को जनता के मन मस्तिष्क से ओझल करने के प्रयास चलते रहे। इसी बीच में रविवार को कमलनाथ ने इमरती देवी के खिलाफ विवादित टिप्पणी कर दी। अब भाजपा ने उसे मुख्य चुनावी हथियार बना लिया है। अब गद्दार, वादा खिलाफी और विकास का मुद्दा ओझल हो गया है।

हालांकि कांग्रेस ने भी नदी गेट पर 2 घंटे का धरना दिया है। उन्होंने मुद्दा रखा है की भाजपा अपनी असफलता को छुपाने के लिए और जनता का ध्यान भटकाने के लिए धरना दे रही है। कांग्रेस का कहना है ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया की सभा में किसान की मौत के बाद भी भाषण चलते रहे भाजपा सरकार असंवेदनशील है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!