बर्ड फ्लू अलर्ट: नया स्ट्रेन अभी तक केवल जंगली पक्षियों में ही मिला

ग्‍वालियर में बर्ड फ्लू को लेकर विशेष सतर्कता

जिले में बर्ड फ्लू को लेकर विशेष सतर्कता

द ग्वालियर। जिले में बर्ड फ्लू को लेकर पशुपालन विभाग के अमले को पूरी तरह सतर्कता बरतने एवं निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं। उपसंचालक पशुपालन ने बर्ड फ्लू की स्ट्रेन H5N8 के बारे में भी जानकारी दी है। अभी तक ग्वालियर जिले में बर्ड फ्लू का कोई भी प्रकरण नहीं मिला है।

          उप संचालक पशुपालन से प्राप्त जानकारी के अनुसार बर्ड फ्लू का यह नया स्ट्रेन अभी तक केवल जंगली पक्षियों में ही पाया गया है। इस स्ट्रेन से ग्रसित कौआ, कबूतर, उल्लू, चील आदि के पंजे नीले पड़ जाते हैं। साथ ही आँख व नाख से अत्यधिक स्त्राव, चेहरे व गर्दन के हिस्से में सूजन आदि लक्षण भी पाए जाते हैं। अभी तक यह स्ट्रेन केवल जंगली पक्षियों में ही पाया गया है। पोल्ट्री में यह स्ट्रेन नहीं मिला है। उप संचालक पशु पालन विभाग के अनुसार मुर्गा-मुर्गी का माँस व अण्डे 70 डिग्री सेल्सियस पर अच्छी तरह पकाकर खाने से व्यक्ति को कोई खतरा नहीं रहता ।

          उप संचालक पशुपालन ने बताया कि बर्ड फ्लू को ध्यान में रखकर पोल्ट्री फार्म से सेम्पल लेकर भोपाल स्थित NIHSAD लैब में जाँच के लिये भेजे जा रहे हैं। साथ ही पोल्ट्री फार्म में साफ-सफाई रखकर पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश भी जारी किए गए हैं।

बर्ड फ्लू को लेकर सतर्कता बरतें पर पैनिक न फैले

            अंतरविभागीय समन्वय बैठक में पशुपालन विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि बर्ड फ्लू को लेकर केन्द्र व राज्य शासन द्वारा जारी की गई एडवायजरी के अनुसार पूर्ण सावधानी एवं सतर्कता बरतें। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि लोगों में भ्रम या भय की स्थिति (पैनिक) उत्पन्न न हो। पशुपालन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि संदिग्ध अवस्था में मृत पाए जाने पर पक्षियों के नमूने लेकर तत्काल जाँच के लिये भेजें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *