धड़कनें तेज, मंगलवार दोपहर तक पता चल जाएगा कौन पहनेगा फूलों का हार

संभागायुक्त,  आईजी, कलेक्टर एवं एसपी ने मतगणना स्थल का किया निरीक्षण। वोटों की गिनती तो सुबह 8 बजे से ही शुरू हो जाएगी।

द ग्वालियर। मध्यप्रदेश में तख्तापलट के बाद हुए विधानसभा उपचुनाव में कौन फूलों का हार पहनेगा, यह 10 नवंबर को दोपहर तक पता चल जाएगा। वोटों की गिनती तो सुबह 8 बजे से ही शुरू हो जाएगी, लेकिन दोपहर 2 बजे तक रुझान स्पष्ट कर देंगे कि कौन हार पहनेगा। जिला प्रशासन ने एमएलबी कॉलेज में होने वाली मतगणना की सभी तैयारियाँ पूरी कर ली हैं। सोमवारर को संभागायुक्त  आशीष सक्सेना, पुलिस महानिरीक्षक अविनाश शर्मा,  कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलेन्द्र विक्रम सिंह तथा पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने मतगणना कक्ष एवं सम्पूर्ण मतगणना परिसर का जायजा लिया। मतगणना व्यवस्था के प्रभारी शिवम वर्मा, उप जिला निर्वाचन अधिकारी आशीष तिवारी एवं एडीएम किशोर कान्याल को जरूरी निर्देश दिए।

कोई गुरू के चरणों में तो किसी ने भगवान के चरणों में झुकाया सिर

ग्वालियर जिले की तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुआ है। इसमें ग्वालियर, पूर्व तथा डबरा विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं। तीनों सीटों पर चुनाव की रोचकता इसलिए अधिक है क्योंकि पार्टी बदलने के बाद प्रदेश में सत्ता का तख्तापलट हुआ। कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए कैबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ग्वालियर से, विधायक मुन्नालाल गोयल पूर्व से तथा कैबिनेट मंत्री इमरती देवी डबरा विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाई गईं, जबकि कांग्रेस ने ग्वालियर विधानसभा सीट पर पार्टी के ही सुनील शर्मा तथा डबरा से कांग्रेस ने सुरेश राजे को प्रत्याशी बनाया। पूर्व विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस ने भाजपा छोड़कर आए सतीश सिकरवार को लड़ाया है। ऐसी स्थिति में प्रद्युम्न, मुन्नालाल गोयल, सतीश सिकरवार तथा इमरती देवी की जनता व पार्टी नेताओं की निगाह उनकी जीत-हार पर टिकी है। क्योंकि जो भी हारा, वह हांसिए पर चला जाएगा। टक्कर चूंकि कांटे की मानी जा रही है, इसलिए प्रत्याशियों की नींद उड़ी है। वे कभी मंदिरों तो कभी गुरुजनों की चरणवंदना में जुटे हैं। सोमवार को प्रत्याशी अपने आराध्य देव और गुरुजनों की चरणवंदन करने पहुंचे।

प्रत्येक विधानसभा में 14 टेबल लगाई गई

प्रत्येक मतगणना टेबल पर एक-एक गणना पर्यवेक्षक, गणना सहायक व माइक्रो ऑब्जर्वर तैनात रहेंगे। इस प्रकार एक टेबल पर तीन अधिकारी तैनात किए जाएंगे। माइक्रो ऑब्जर्वर सीधे निर्वाचन प्रेक्षक को अपनी रिपोर्ट देंगे। जिले के हर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में 14 टेबलों पर मतगणना होगी। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में दो-दो कक्षों में मतगणना की जाएगी। ईवीएम के मतों की गिनती करने के लिए प्रत्येक कक्ष में 7-7 टेबल लगाई गई हैं। 

8 बजे से शुरू होगी मतगणना

जिला निर्वाचन अधिकारी कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि 10 नवंबर को सुबह 8 बजे मतों की गिनती शुरू होगी। सबसे पहले डाक मत पत्रों एवं कर्मचारियों द्वारा भेजे गए मतों की गिनती होगी। इसके आधा घंटे बाद ईवीएम (इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन) के वोटों की गिनती शुरू की जाएगी। दोनों प्रकार के मतों की गिनती समानान्तर रूप से जारी रह सकेगी।

मोबाइल फोन, बीड़ी, सिगरेट, तम्बाकू इत्यादि प्रतिबंधित रहेंगे

मतगणना परिसर में मोबाइल फोन, बीड़ी, सिगरेट, माचिस, तम्बाकू व खाद्य पदार्थ प्रतिबंधित रहेंगे। मतगणना भवन व परिसर में मोबाइल ले जाना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

मतगणना परिसर में प्रवेश व्यवस्था

मतगणना में लगे हुए शासकीय अधिकारी व कर्मचारीगण अचलेश्वर मंदिर के गेट की ओर से मतगणना परिसर में प्रवेश करेंगे। इसी गेट से विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 19-डबरा (अजा) के प्रत्याशी एवं उनके गणना अभिकर्ता प्रवेश कर सकेंगे। एमएलबी कॉलेज के मुख्य प्रवेश द्वार यानि कटोराताल के बगल में स्थित प्रवेश द्वार से विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 15-ग्वालियर व 16-ग्वालियर पूर्व के प्रत्याशी एवं गणना अभिकर्ताओं को प्रवेश दिया जाएगा।

थीम रोड़ एवं सनातन धर्म मंदिर तक के मार्ग पर आवागमन प्रतिबंधित रहेगा

थीम रोड़ एवं सनातन धर्म मंदिर तक के मार्ग पर आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। मतगणना में लगे शासकीय अधिकारी एवं कर्मचारी तथा मीडिया प्रतिनिधिगण अपना प्रवेश पत्र दिखाकर वाहन की पार्किंग जीवायएमसी मैदान, उत्सव वाटिका, परिणय वाटिका एवं आशीर्वाद वाटिका में कर सकेंगे। शीतला सहाय चौराहे की तरफ से आने वाले शासकीय अधिकारी एवं कर्मचारी तथा मतगणना अभिकर्ता अपने वाहन पद्माराजे ट्रस्ट के मैदान पर पार्क कर सकेंगे। विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र ग्वालियर व पूर्व के प्रत्याशियों के मतगणना अभिकर्ता अपने वाहन सुविधा अनुसार पार्किंग स्थलों पर पार्क कर पैदल एमएलबी कॉलेज में प्रवेश कर सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!