सरकारी जमीन पर प्लॉट ‌काटकर बेचने वालों पर प्रशासन का शिकंजा, 9 भू-माफियाओं पर एफआईआर

जन-सुनवाई में प्राप्त शिकायत की जांच में पता चला मामला। भू-माफियाओं पर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह के निर्देश पर राजस्व विभाग की टीम ने कराई एफआईआर दर्ज।

द ग्वालियर। शासकीय माफी औकाफ की जमीन पर आवासीय प्लॉट ‌काटकर बेचने के मामले में दोषियों पर राजस्व विभाग की टीम ने पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई है। फरियादी  जन-सुनवाई में आवसीय प्लॉट के दस्तावेज होने के बावजूद शासन द्वारा बेदखली के नोटिस के विरोध में शिकायत करने पहुंचे थे। शिकायत की प्रारंभिक जांच में कलेक्टर को पता चला कि कुछ व्यक्तियों द्वारा शासकीय माफी औकाफ की जमीन पर आवसीय प्लॉट काटकर बेचे गए हैं, जिसके बाद कलेक्टर ने धोखाधड़ी का शिकार हुए फरियादियों को उचित कार्रवाई का आश्वासन लेने के बाद तहसीलदार को संबंधित आरोपियों के खिलाफ पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए थे।      

मंगलवार को कलेक्ट्रेट की जन-सुनवाई में एकतापुरी हरिजब बस्ती के पास कुशवाह कॉलोनी गुढ़ा-गुड़ी का नाका लश्कर क्षेत्र के निवासी शिकायत लेकर पहुंचे थे कि हमारे नाम से आवासीय जमीन के कागजात होने के बाबजूद हमें बेदखली के नोटिस मिले हैं। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने उनके आवेदन की जांच की तो पता चला कि इन लोगों को भू-माफियाओं ने छल से सरकारी जमीन पर प्लॉट काटकर बेचे हैं। धोखाधड़ी का पता चलने पर कलेक्टर ने तहसीलदार शिवानी पाण्डे को प्रकरण की बारीकी से जांच कर पुख्ता साक्ष्यों के साथ सरकारी जमीन बेचने वाले व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए थे। धोखाधड़ी की पुष्टि होने के बाद तहसीलदार ने बुधवार को पुलिस थाना माधौगंज में नौ आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। 

तहसीलदार शिवानी पांडेय ने बताया कि शासकीय जमीन बेचने वाले 9 आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। इनमें एकतापुरी कॉलोनी हरिजनबस्ती के पास गुढ़ी निवासी भगवानदास, लक्ष्मण सिंह, पुरुषोत्तम कुशवाह, छोटे सिंह, बाबू सिंह, पूरन सिंह, नवल सिंह, चन्द्रकला पत्नी जीवनलाल व मुन्नी पत्नी रामसिंह कुशवाह शामिल हैं।

यह हुए धोखाधड़ी का शिकार तहसीलदार शिवानी पांडेय ने बताया कि प्रकरण की छानबीन में पता चला है कि लगभग डेढ़ दर्जन लोगों को भू-माफियाओं ने छल पूर्वक सरकारी जमीन बेचकर ठगा है। धोखाधड़ी का शिकार लोगों में एकतापुरी कॉलोनी हरिजन बस्ती के पास गुढ़ी निवासी रामदेवी, अर्चना किरार, श्रीनिवास चौरसिया, रंजना जाधव, वंदना गुप्ता, रनवीर सिंह, मंगल सिंह, केदार सिंह, लायक सिंह, बाला साहब, रविन्द्र सिंह, विनोद सिंह, शाही सक्सेना, अरनज बोरसे,  सुनील सिंह व सीताराम धाकड़ शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *