उपचुनाव में रेत माफिया की मौज, प्रशासन की व्यस्तता का फायदा उठा कर रहे अवैध उत्खनन

सिंध नदी में पनडुब्बीयां डालकर रेत माफिया रेत खनन एवं परिवहन को अवैध तरीके से अंजाम दे रहे हैं। सरकार को राजस्व की चपत।

द ग्वालियर। जिला प्रशासन (Gwalior Administration) उपचुनाव (By-Election) की तैयारियों में व्यस्त हैं, जिसका फायदा रेत माफिया (Sand Mafia) उठा रहे हैं। रेत माफिया ने बड़ी मात्रा में सिंध नदी (Sindh River) के रेत घाटों पर अवैध रेत उत्खनन (Illegal Mining) करना शुरू कर दिया है। सिंध नदी में पनडुब्बीयां डालकर रेत माफिया रेत खनन एवं परिवहन को अवैध तरीके से अंजाम दे रहे हैं।

अभी हाल ही में डबरा सिटी थाना पुलिस ने बेलगढा रेत घाट पर कार्यवाही कर नदी में चलने वाली दो पनडुब्बियों को पकड़ा था। बावजूद इसके रेत माफिया अभी भी अबैध रेत कारोबार करने में नहीं चूक रहे हैं। सिंध नदी के लुहारी, चांदपुर, बेलगढा, रायपुर, कैथोदा, बारकरी, गजापुर सहित क्षेत्र में बनी अन्य खदानों से पनडुब्बियां डालकर रेत उत्खनन कर परिवहन किया जा रहा है।

ऐसा भी नहीं है कि जिला प्रशासन और पुलिस अवैध रेत उत्खनन से अंजान है। जिस भी थाना क्षेत्र में अवैध रेत उत्खनन हो रहा है उन्हें इस बात की जानकारी है। या यह कहे कि थानों की शरण में अवैध रेत उत्खनन फलफूल रहा है। इतना ही नहीं अवैध रेत उत्खनन से न सिर्फ सरकार को राजस्व की हानि हो रही है, बल्कि तय सीमा से अधिक मात्रा से अधिक रेत उत्खनन से सिंध नहीं को भी खासा नुकसान पहुंच रहा है।      

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *