कोविड-19 की गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों पर दर्ज करें एफआईआर, हाईकोर्ट ने ग्वालियर व दतिया के कलेक्टर को दिए निर्देश

द ग्वालियर। हाईकोर्ट ग्वालियर ने कलेक्टर ग्वालियर और दतिया को निर्देश दिया है कि वे कोविड-19 के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वाले राजनीतिक पार्टी के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट तथा आईपीसी के तहत एफ आई र दर्ज करें। न्यायालय के आदेश पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, भाजपा प्रत्याशी प्रद्युम्न सिंह तोमर मुन्नालाल गोयल, कांग्रेस के नेता रामनिवास रावत कांग्रेस प्रत्याशी सुनील शर्मा एवं सतीश सिंह सिकरवार के खिलाफ एफ आई आर दर्ज हो सकती है।

न्यायमूर्ति शील नागू एवं न्यायमूर्ति राजीव कुमार श्रीवास्तव की युगल पीठ ने एडवोकेट आशीष प्रताप सिंह की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिए हैं यह याचिका एडवोकेट सुरेश अग्रवाल के माध्यम से प्रस्तुत की गई है। न्यायालय ने अपने आदेश में कहा कि इस मामले में न्याय मित्र संजय द्विवेदी राजू शर्मा एवं वीडी शर्मा की रिपोर्ट पर 3 अक्टूबर को दिए गए अंतरिम आदेश के तहत यह निर्देश दिए गए हैं। इस मामले की सुनवाई के दौरान अतिरिक्त महाधिवक्ता द्वारा अपना पक्ष रखे जाने के बाद न्यायालय ने कहा कि जो सूचना मिली उसी आधार पर एफआईआर दर्ज की जाए। न्यायालय ने अपने आदेश में यह भी कहा कि प्रति पालन रिपोर्ट अगली सुनवाई से पहले न्यायालय में प्रस्तुत की जाए।

याचिकाकर्ता ने दिया था आवेदन याचिकाकर्ता के अधिवक्ता सुरेश अग्रवाल द्वारा न्यायालय में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ रामनिवास रावत, प्रद्युम्न सिंह तोमर सुनील शर्मा मुन्नालाल गोयल एवं सतीश सिंह सिकरवार के नामों का जिक्र करते हुए आवेदन प्रस्तुत किया गया था कि इन नेताओं ने कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किया है। मामले की सुनवाई के दौरान न्याय मित्र संजय द्विवेदी राजू शर्मा एवं बीडी शर्मा ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपना पक्ष रखा। न्याय मित्रों द्वारा प्रस्तुत दो रिपोर्ट के बाद उच्च न्यायालय ने सभी कलेक्टर एवं एसपी को कोविड-19 के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ एफ आई आर के निर्देश दिए थे।

न्यायालय को न्याय मित्रों ने यह भी बताया कि न्यायालय के अंतरिम आदेश के बाद राजनीतिक दलों की सभा में कोविड-19 के प्रोटोकाल का उल्लंघन किया गया। नियमों का पालन कराने के लिए प्रस्तुत की गई है याचिका यह याचिका केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 को लेकर जारी दिशा-निर्देशों का पालन नहीं होने पर ग्वालियर में कोरोना के मरीजों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए गाइडलाइन का पालन कराने के लिए प्रस्तुत की गई है।

इनकी सभाओं का जिक्र अपने आदेश में बघेल छात्रावास में भाजपा प्रत्याशी मुन्ना लाल द्वारा आयोजित बैठक में 500 लोगों की उपस्थिति, प्रद्युम्न सिंह तोमर की ओर से आयोजित, सतीश सिंह सिकरवार द्वारा आयोजित सभाओं का जिक्र किया गया है। वहीं केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर द्वारा बैठक एवं सभाओं का आयोजन किया गया। आदेश में रामनिवास रावत, सुनील शर्मा, फूल सिंह बरैया का जिक्र करते हुए कहा गया कि इन सभी की सभाओं में कोविड-19 के दिशा निर्देशों का उल्लंघन हुआ। याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया कि इन सभाओं में ना तो कार्यकर्ता मास्क लगाए हुए थे और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *