काँग्रेस प्रत्यासी सतीश सिकरवार ने कॉंग्रेस छोड़कर भाजपा में पहुंचे मुन्नालाल गोयल को बिना नाम लिए कहा बिकाऊलाल

चुनाव प्रचार सभा में लोगों की भीड़, उच्च न्यायालय के आदेश के बाद भी कोरोना गाइडलाइन का खुला उल्लंघन। प्रत्यासी ने न खुद मास्क लगाया न मंच पर बैठे अन्य कार्यकर्ताओं ने। सोशल डिस्टेंस की भी उड़ी धज्जियां।  

द ग्वालियर। ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र में चुनावी घमासान तेज हो गया है। भाजपा छोड़ कांग्रेस प्रत्याशी बनकर भोपाल के विधानसभा का रास्ता खोज रहें सतीश सिकवार ने भाजपा प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल को बिकाऊलाल कहते हुए पैसे लेने का आरोप लगाया। खास बात ये है कि जाटव धर्मशाला शिवाजी मंदिर के पास आज हुई चुनावी सभा में सतीश सिकवार ने मुन्नालाल गोयल का बिना नाम लिए कई गंभीर आरोप जड़े। कहा कि दो बार हारने के पैसे लिए और अब जीतने के बाद जिताने के पैसे भी ले लिए। इतना ही नहीं सतीश सिकवार ने जेल में बंद आसाराम बापू से भी उनकी  तुलना कर डाली।

इस चुनावी सभा मे कोरोना की गाइडलाइन का जमकर उल्लंघन किया गया। न तो वो खुद मास्क लगाए थे न मंच पर बैठे दूसरे नेताओं ने मास्क लगाया। सभा में आई भीड़ भी बिना मास्क और सोशल डिस्टेंस के नजर आई। गौरतलब है कि उच्च न्यायालय ने सभी राजनीतिक पार्टियों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने का आदेश दिया है। जिला प्रशासन को उल्लंघन होने पर आपराधिक मामला दर्ज करने के आदेश दिए हैं। बावजूद इसके चुनावी सभाओं में आदेश का पालन होता नजर नहीं आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *