संभाग के सभी कलेक्टरों से बोले संभाग आयुक्त आचार संहिता का पालन हर हाल में हो

द ग्वालियर । विधानसभा उप चुनाव-2020 के लिये आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। जिन-जिन विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव के लिये आचार संहिता लागू की गई है वहाँ पर उसका पालन सुनिश्चित किया जाए। निर्वाचन के लिये आयोग द्वारा जो दिशा-निर्देश दिए गए हैं उसका कड़ाई से पालन समय-सीमा में हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए। संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना ने गुरूवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिए।

मोतीमहल के स्मार्ट सिटी ऑफिस से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संभाग आयुक्त ने ग्वालियर संभाग के सभी जिला कलेक्टरों और उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ विभागीय अधिकारियों की बैठक ली और आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए।

संभागीय आयुक्त सक्सेना ने सभी जिला कलेक्टरों से कहा कि आयोग द्वारा विधानसभा उप निर्वाचन-2020 के लिये कोविड-19 के संबंध में भी आवश्यक निर्देश जारी किए हैं। सभी जिलों में निर्वाचन के दौरान कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन भी सुनिश्चित किया जाए। सभी जिलों में कोविड-19 के दिशा-निर्देशों के पालन के लिये एक नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया जाए। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि निर्वाचन के प्रशिक्षण के दौरान भी कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिये दिए गए निर्देशों का पालन हो, प्रशिक्षण भी बड़े हॉल में चरणबद्ध तरीके से किया जाए। प्रशिक्षण के दौरान सभी कर्मचारी मास्क अनिवार्यत: पहनें और सेनेटाइजर का उपयोग भी अवश्य करें।

संभागीय आयुक्त सक्सेना ने कहा कि मतदान दलों को सामग्री का वितरण भी खुले स्थान से हो तथा एंट्री प्वॉइंट पर ही सेनेटाइजर की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। मतदान के दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ मास्क और सेनेटाइजर का उपयोग हो। इसके साथ ही मतदाता को मतदान के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित करने हेतु टोकन की व्यवस्था भी की जा सकती है।

उन्होंने सभी जिला कलेक्टरों से कहा कि अपने-अपने जिले में मतदान केन्द्रों की व्यवस्थायें समय रहते पूर्ण कर ली जाएं। जिन केन्द्रों पर रैम्प नहीं हैं अथवा खराब हो गए हैं उन्हें बनाने की व्यवस्था भी तत्काल प्रारंभ की जाए। मतदान दलों को मतदान केन्द्र पर पहुँचने के बाद ठहरने और भोजन की व्यवस्था भी बेहतर हो यह सुनिश्चित किया जाए। संभागीय आयुक्त श्री सक्सेना ने कहा कि मतदाताओं को बीएलओ के माध्यम से जो मतदान पर्ची का वितरण कार्य है, पर्ची वितरण के कार्य को पूर्ण गंभीरता के साथ किया जाए। जो मतदाता नहीं मिलते हैं उनकी मतदाता पर्ची वापस जमा की जाए और इसका रिकॉर्ड भी रखा जाए। सभी जिलों में सम्पत्ति विरूपण की कार्रवाई सख्ती के साथ की जाए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा के दौरान संभागीय आयुक्त ने यह भी निर्देशित किया कि मतदान दलों का गठन एवं प्रशिक्षण समय रहते पूर्ण किया जाए। एफएसटी, एसएसटी टीमों का गठन कर दलों को क्रियाशील करें। दलों द्वारा की जा रही कार्रवाई की सतत मॉनीटरिंग भी की जाए। राजस्व एवं पुलिस के अधिकारी संयुक्त रूप से मतदान दलों का निरीक्षण भी करें। निर्वाचन के लिये आयोग के निर्देशानुसार शस्त्र जमा कराने की कार्रवाई भी समय-सीमा में पूर्ण कर ली जाए। सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण करें। पुलिस के माध्यम से अपराधियों पर जो भी प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाना है वह समय रहते कर ली जाए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में ग्वालियर, शिवपुरी, दतिया, गुना, अशोकनगर के कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारियों ने विधानसभा उप निर्वाचन के लिये अब तक की गई कार्रवाई के संबंध में जानकारी दी। सभी ने यह भी आश्वस्त किया कि निर्वाचन आयोग के निर्देश के परिपालन में सभी कार्रवाईयां समय रहते पूर्ण कर ली जायेंगीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *