Home देश-प्रदेश स्वदेशी कोरोना वैक्सीन का निर्माण गर्व का विषय : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

स्वदेशी कोरोना वैक्सीन का निर्माण गर्व का विषय : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

4 second read
0
0
41

मध्यप्रदेश में कोविड-19 से बचाव के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हमीदिया अस्पताल के कोविड ब्लाक एक में कोविड वैक्सीन टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया।

द ग्वालियर । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए स्वदेशी वैक्सीन का निर्माण और उसका प्रयोग गर्व का विषय है। प्रधानमंत्री श्री मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व का ही यह परिणाम है कि आज से देशवासियों को इस ‘मेड इन इंडिया वैक्सीन’ का लाभ मिलना प्रारंभ हो गया है। सच ही कहा गया है कि ‘मोदी है तो मुमकिन है।’ मुख्यमंत्री चौहान आज हमीदिया अस्पताल के कोविड ब्लाक एक में कोविड वैक्सीन टीकाकरण अभियान का शुभारंभ कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री की उपस्थिति में हमीदिया अस्पताल में कार्यरत वार्ड बॉय श्री संजय यादव को प्रथम वैक्सीन लगाया गया। प्रथम चरण में प्रदेश में आज 2 लाख 25 हजार टीके लगाए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने प्रथम वैक्सीन लगवाने वाले वार्ड बॉय संजय यादव को बधाई दी। संजय यादव ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को अभिवादन कर धन्यवाद दिया। वैक्सीन अभियान प्रारंभ होने के अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान, कमिश्नर भोपाल कवीन्‍द्र कियावत, संचालक जनसंपर्क आशुतोष प्रताप सिंह उपस्थित थे।

वैज्ञानिकों को किया प्रणाम

मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम की विस्तार पूर्वक जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ‘मैन ऑफ आइडियाज’ हैं। उन्होंने समय रहते संकट को पहचान लिया था। कोरोना के नियंत्रण के लिए देश में उनके द्वारा किए गए प्रयास ऐतिहासिक हैं। कोरोना से बचाव के लिए स्वदेशी वैक्सीन के निर्माण और आज से अभियान के रूप में देशव्यापी स्तर पर वैक्सीन लगाने का कार्य शुरू हुआ है। इसके लिए निश्चित ही हमारे वैज्ञानिक विशेष धन्यवाद के पात्र हैं जिन्होंने दिन-रात एक कर वैक्सीन के निर्माण का कार्य किया। मैं वैज्ञानिक समुदाय को प्रणाम करता हूँ।

बलिदानियों का स्मरण

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज उन बलिदानियों का स्मरण स्वाभाविक है जिन्होंने कोरोना से प्रभावित लोगों का तब इलाज किया जब संक्रमित व्यक्ति के नाम से ही सभी घबराते थे। अनेक चिकित्सक उपचार सेवाएं देते-देते अपना जीवन त्याग कर दुनिया से चले गये। उन सभी को नमन करते हुए वैक्सिनेशन प्रारंभ किया जा रहा है।

प्राथमिकता क्रम तय है

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीकाकरण के लिए प्राथमिकता क्रम निर्धारित किया गया है। प्रथम चरण में कोरोना वॉरियर्स को टीका लगाया जाएगा जिसमें मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ भी शामिल हैं। इसमें सरकारी और निजी अस्पतालों के सेवाभावी चिकित्सक भी टीका लगवाएंगे। अगले क्रम में अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं को टीका लगेगा जिनमें राजस्वकर्मी, पुलिसकर्मी, नगरीय निकायों के कर्मचारी आदि शामिल हैं। पचास वर्ष की आयु से अधिक के नागरिकों तथा ऐसे नागरिकों जो पचास वर्ष से कम आयु के हैं, परंतु एकाधिक स्वास्थ्य समस्या से ग्रस्त हैं, उनका टीकाकरण किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि टीका लगाने के बाद छोटी-मोटी स्वास्थ्य समस्या उत्पन्न हो सकती है जिसका प्रबंध किया गया है। यह टीका सुरक्षित है। पहला टीका लगने के 28 दिन बाद दोबारा टीका लगेगा। इसके पश्चात 14 दिन में एंटीबॉडी विकसित होगी। टीका लगने के 30 मिनट पश्चात तक आब्जर्वेशन किया जाएगा कि टीका लगवाने वाले व्यक्ति को कोई ए ई एफ आई लक्षण तो नहीं है। ऐसा होने पर प्रबंधन की व्यवस्था की गई है।

राष्ट्रीय महत्व का कार्य है, आलोचना से बाज आएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों का यह कहना कि मुख्यमंत्री बाद में टीका लगवाएंगे, उचित नहीं है। उन्हें सोचना चाहिए कि प्रत्येक विषय पर आलोचना ठीक नहीं है। यह राष्ट्रीय महत्व का कार्य है। सभी को एक होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रोटोकॉल के तहत अपना नंबर आने पर ही वे टीका लगवाएँगे। वे प्रोटोकॉल के तहत तृतीय चरण में वैक्सीन लगवाएंगे क्योंकि जिन्होंने जनता की जिंदगी बचाने का कार्य किया उन्हें प्राथमिकता से टीका लगना चाहिए। यही न्यायसंगत भी है। प्राथमिकता जो देश ने तय की है उसका पालन होना चाहिए। कुछ लोग इस संबंध में भ्रम फैला रहे हैं, इससे अहित होगा।

चाक-चौबंद हैं इंतजाम

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में 150 स्थानों पर वैक्सिनेशन शुरू किया गया है। प्रथम चरण में कोरोना वारियर्स को इसका लाभ मिलेगा। मध्यप्रदेश में भी प्राथमिकता क्रम में निर्धारित श्रेणियों के अनुसार वैक्सीन लगाई जाएंगी। पहली वैक्‍सीन लगवाने के पश्चात दूसरी निर्धारित अवधि 28 दिन के बाद लगेगी। इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है। यह पूरी तरह प्रामाणिक है। नागरिकों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए यह प्रभावी सिद्ध होगी। वैक्सीन के लिए आवश्यक प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर हमीदिया अस्पताल स्टाफ के चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ को बधाई भी दी।

मुख्यमंत्री ने दिया संजय यादव को धन्यवाद

मुख्यमंत्री की उपस्थिति में प्रथम वैक्सीन वार्ड बॉय श्री संजय यादव ने लगवाई। मुख्यमंत्री ने संजय को धन्यवाद देते हुए हालचाल पूछा। संजय ने मुख्यमंत्री श्री चौहान का अभिवादन किया। इस अवसर पर डॉ. ए.के. उपाध्याय, स्टाफ नर्स सुश्री उषा किरण, एएनएम सुश्री शकुन कर्णवाल, साफ्टवेयर इंजीनियर सुश्री अंजलि राठौर ड्यूटी पर थे। मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों और अन्य स्टाफ को उनकी सेवाओं के लिए धन्यवाद भी दिया। हमीदिया के कोविड ब्लाक के अन्य कक्ष में डॉ. एस.के. त्रिवेदी के साथ स्टाफ नर्स सुश्री प्रीति पगारे और ए.एन.एम. सुश्री प्रतिभा सिंह ड्यूटी पर थीं। यहां डॉ. अजय गोयनका ने टीका लगवाया।

प्रधानमंत्री का संबोधन सुना

मुख्यमंत्री ने टीकाकरण अभियान प्रारंभ होने के पहले प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का संबोधन सुना। हमीदिया अस्पताल, गांधी मेडिकल कॉलेज परिसर में चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ सहित प्रशासनिक अधिकारियों ने भी इस प्रसारण को सुना। इस मौके पर कलेक्टर भोपाल अविनाश लवानिया तथा डीआईजी इरशाद वली उपस्थित थे।

Load More Related Articles
  • vbn

    Event …
  • lmn

    हल्ला-बोल …
  • klm

    आपकी-आवाज …
Load More By gwalior
Load More In देश-प्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

vbn

Event …