Home कोरोना वायरस 60 वर्ष से ऊपर वालों को लगेगी 1 मार्च से कोविड वैक्सीन, साथ लाना होगा पहचान पत्र

60 वर्ष से ऊपर वालों को लगेगी 1 मार्च से कोविड वैक्सीन, साथ लाना होगा पहचान पत्र

3 second read
0
0
213

वैक्‍सीन जेएएच समेत चिन्हित सरकारी अस्‍पतालों में लगाया जाएगा। गंभीर बीमारी से ग्रसितों को चिकित्‍सक से बीमारी का प्रमाणीकरण लाना होगा।

द ग्वालियर। अब 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों को कोविड वैक्‍सीन लगाया जाएगा। बुजुर्गों को वैक्‍सीन लगना 1 मार्च से प्रारंभ होगा। वैक्‍सीन लगवाने आने वालों को अपना पहचान पत्र साथ में लाना होगा। वैक्‍सीन जयारोग्‍य अस्‍पताल (जेएएच) समेत निर्धारित चिन्हित सरकारी अस्‍पतालों में लगाया जाएगा। गंभीर बीमारी से ग्रसितों को अपने चिकित्‍सक से बीमारी का प्रमाणीकरण लाना होगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष शर्मा ने बताया कि ग्वालियर में 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों को कोविड वैक्सीन 1 मार्च 2021 से लगाई जाएगी। इसके लिए उन्हें अपना पहचान पत्र लाना होगा। साथ ही 45 से 59 वर्ष के चिन्हित गम्भीर बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों को अपनी पहचान पत्र के साथ रजिस्टर्ड मेडीकल प्रेक्टिशनर से बीमारी का प्रमाणीकरण लाना होगा। सरकारी अस्पताल में वैक्सीन नि:शुल्क लगाया जाएगा।

वहीं, प्राइवेट अस्पतालों में 100/- रूपए सर्विस चार्ज के साथ निर्धारित वैक्सीन की कीमत देना होगी। जो कर्मचारी कोविड वैक्सीन के दूसरे डोज के लिए प्राइवेट नर्सिंग होम में पंजीकृत हैं, वह वहां जाकर दूसरा डोज लगवा सकते हैं। जिन प्राइवेट नर्सिंग होम को चिन्हित किया जा रहा है, उन्‍हें कलेक्टर की स्वीकृति उपरांत कोविड वैक्सीन लगाने की अनुमति दी जाएगी।   

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ग्वालियर डॉ. मनीष शर्मा ने कहा कि 1 मार्च को उक्त वैक्सीनेशन कार्यक्रम का शुभारंभ किया जाएगा। साथ ही जो हेल्थ केयर वर्कर (शासकीय/अशासकीय) एवं फ्रंट लाईन वर्कर कोविड-19 वैक्सीन टीकाकरण के प्रथम एवं दूसरे डोज से वंचित रह गये हैं वह भी अपना रजिस्ट्रेशन करवाकर वैक्सीन लगवा सकते हैं।

Load More Related Articles
Load More By gwalior
Load More In कोरोना वायरस

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

शासकीय शिक्षा महाविद्यालय से अब गैर शिक्षक भी कर सकेंगे बीएड

द ग्वालियर। ग्वालियर के शासकीय शिक्षा महाविद्यालय में अब शासकीय शिक्षकों के अलावा अन्…