Home अपना शहर माधव प्लाजा में दुकान लेने वाले परेशान, बोले- ब्याज माफ हो और मेंटेनेंस पर चर्चा करें सरकार

माधव प्लाजा में दुकान लेने वाले परेशान, बोले- ब्याज माफ हो और मेंटेनेंस पर चर्चा करें सरकार

6 second read
0
0
20

माधव प्लाजा के हितग्राहियों के साथ ‘चेम्बर भवन’ में बैठक आयोजित। मांगे पूरी नहीं होने तक माधव प्लाजा में नहीं जाने का एलान।

द ग्वालियर। माधव प्लाजा के हितग्राहियों के साथ आज चेम्बर भवन में एक बैठक हुई। बैठक में हितग्राहियों ने कहा कि जब तक ब्‍याज माफ नहीं होता और उसके मेंटेनेंस को लेकर चर्चा नहीं की जाती है तब तक वह माधव प्‍लाजा नहीं जाएगें। बैठक की अध्यक्षता कर रहे अध्यक्ष विजय गोयल ने कहा कि माधव प्लाजा का अनुभव व्यापारियों के लिए काफी बुरा रहा है। ग्वालियर विकास प्राधिकरण को इसे बनाने से पूर्व आवश्यक सभी एनओसी ली जाना चाहिए थी जो कि नहीं ली गईं जिसके कारण इसमें बुकिंग कराने वाले हितग्राहियों को काफी परेशानी हुई है। आपने कहा कि आज की बैठक आपसे विस्तृत चर्चा हेतु बुलाई है ताकि आपके सुझाव/मांग अनुसार संभागीय कमिश्‍नर महोदय व जनप्रतिनिधियों से चर्चा की जा सके।

बैठक में संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल ने कहा कि विगत दिवस हुई बैठक में चेम्बर प्रतिनिधि के रूप में शामिल होने पर हमने मांग की थी कि चूंकि अब मध्यप्रदेश में रैरा लागू हो गया है और सभी प्रोजेक्ट इसके अंतर्गत आ चुके हैं तो रैरा के नियमानुसार माधव प्लाजा के हितग्राहियों के साथ व्यवहार होना चाहिए। जिन 150 से अधिक हितग्राहियों ने पार्ट पेमेंट जमा कराया है, उनसे आपके द्बारा जो ब्याज की मांग की जा रही है, वह गलत है। चूंकि प्रोजेक्ट में देरी जीडीए के पास पर्याप्त एनओसी नहीं होने के कारण हुई है। इसलिए हितग्राही का इसमें कोई दोष नहीं है। रैरा के नियमानुसार प्रोजेक्ट में देरी होने पर डेवलपर को हितग्राही को ब्याज देना होता इसलिए जीडीए को हितग्राहियों से ब्याज लेना नहीं बल्कि देना चाहिए| साथ ही बैठक में मांग की गई थी कि मेंटेनेंस चार्ज के लिए एक साल का समय हितग्राही को देना चाहिए।

मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने कहा कि हमें जीडीए से यह मांग करना चाहिए कि चूंकि प्रोजेक्ट में देरी जीडीए के पास आवश्यक एनओसी न होने के चलते हुई है इसलिए हम एक रूपया भी ब्याज नहीं देंगे वरन जीडीए को हमें रैरा नियमानुसार ब्याज देना चाहिए। साथ ही, मेंटनेंस चार्जेस दुकान की रजिस्ट्री होने के 6 माह अथवा ओपनिंग डेट जो पहले हो उस अनुसार लिया जाना चाहिए।

कोषाध्यक्ष वसंत अग्रवाल ने कहा कि चूंकि रैरा में माधव प्लाजा प्रोजेक्ट आ गया है तो उस अनुसार ही सुविधाएं हितग्राहियों को जीडीए द्बारा प्रदान की जाना चाहिए क्योंकि व्यापारियों ने अपनी रकम पहले जमा कर दी है और जीडीए द्बारा देरी होने पर हितग्राहियों को हानि उठाना पड़ी है।

बैठक में  माधव प्लाजा के हितग्राहियों ने एक राय होकर कहा कि हम जीडीए को एक रूपया भी ब्याज के रूप में नहीं देंगे बल्कि जीडीए को प्रोजेक्ट में देरी होने के कारण हमें ब्याज देना चाहिए| मेंटेनेंस चार्जेज क्या हों और यह कब से लिया जाये इस पर हितग्राहियों से चर्चा हो और सर्वसम्मति बनने पर यह न्यूनतम लिया जाये| साथ ही, रैरा की गाइडलाइन का पालन करते हुए ही रजिस्ट्री कराई जाए एवं हितग्राहियों को पजेशन दिया जाये| हितग्राहियों की मांगों पर जब तक सहमति नहीं बनती है, हम माधव प्लाजा में नहीं जायेंगे|बैठक में कार्यकारिणी सदस्य-रविप्रताप अग्रवाल, सदस्य-शरद अग्रवाल, माधव अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

Load More Related Articles
  • vbn

    Event …
  • lmn

    हल्ला-बोल …
  • klm

    आपकी-आवाज …
Load More By gwalior
Load More In अपना शहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

vbn

Event …