Home अपना शहर सियासत ग्वालियर के विकास पर खर्च होगें 5 हजार करोड़, सीएम ने 550 करोड़ के कार्यों का किया लोकार्पण-भूमिपूजन

ग्वालियर के विकास पर खर्च होगें 5 हजार करोड़, सीएम ने 550 करोड़ के कार्यों का किया लोकार्पण-भूमिपूजन

6 second read
0
0
58

सात घंटे शहर में रहे सीएम शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व राज्यसभा सदस्य  ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया भी रहे मौजूद।

द ग्वालियर। ग्वालियर के विकास में अगले 5 साल में पांच हजार करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। यह राशि इन्फ्रास्ट्रक्चर, पर्यटन विकास, उद्योग, कला संस्कृति, रोजगार, स्वास्थ्य सहित अन्य योजनाओं पर खर्च होगी। विभिन्न विभागों ने मिलकर इसका विस्तृत रोड मैप तैयार कर लिया है। जल्द ही उस पर अमल शुरू कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को ग्वालियर में फूलबाग मैदान में आयोजित कार्यक्रम में यह बात कही। वे सात घंटे शहर में रहे और विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर तथा राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद रहे। कार्यक्रम में राशन सहित अन्य योजनाओं के पात्र हितग्राहियों को प्रमाण-पत्र भी वितरित किए।

हर घर में पहुंचाएंगे नललगाएंगे टोटी

सीएम ने कहा कि नल-जल योजना में 6 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। इसके तहत प्रत्येक घर में नल लगाकर टोटी लगाई जाएगी। स्व-सहायता समूह को रोजगार देने की दिशा में मजबूत कदम बढ़ाए हैं। सरकारी राशन की कालाबाजारी के मामले में सीएम ने ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह से पूछा कि क्या यहां किसी कालाबाजारी करने वाले पर कार्रवाई की है, तो कलेक्टर ने कहा कि दो लोगों पर बड़ी कार्रवाई की है। इस पर सीएम ने कहा कि गरीब का राशन खाने वालों को जेल भेजा जाएगा।

2 लाख आवास सरेंडर कर दिए थे

केंद्रीय मंत्री तोमर ने अपने संबोधन में कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2 लाख आवास स्वीकृत किए थे, लेकिन प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनते ही आवास सरेंडर कर दिए गए। कांग्रेस सरकार ने शिवराज के विकास के पहिए को रोक दिया था। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व कमलनाथ सरकार पर फिर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश में भ्रष्टाचार को चरम पर ला दिया। अब भाजपा सरकार फिर विकास की ओर कदम बढ़ा रही है। ग्वालियर में चंबल से पानी लाने के लिए केंद्र सरकार ने 250 करोड रुपए स्वीकृत कर दिए हैं। विकास का यह सिलसिला जारी रहेगा। मुख्यमंत्री आरएसएस के आरोग्यधाम अस्पताल के स्थापना दिवस समारोह में शामिल हुए और अटल स्मारक की जगह भी देखने पहुंचे।

माफिया के खिलाफ सबसे बड़ा अभियान

मीडिया से चर्चा में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शराब, भू-माफिया सहित अऩ्य माफियाओं के खिलाफ सबसे बड़ा अभियान चल रहा है। माफिया कितना भी ताकतवर क्यों न हो, छोड़ा नहीं जाएगा। सरकार प्रदेश के विकास के लिए वचनबद्ध है और इस दिशा में तेजी से काम चल रहा है। कांग्रेस सरकार ने जनहित की सभी योजनाओं को बंद कर दिया था और बाद में कोविड संक्रमण के कारण विकास कार्य पटरी से उतरा है, लेकिन फिर से भाजपा की सरकार बनने पर अब फिर चहुंमुखी विकास की ओर कदम चल पड़े हैं। किसानों की बेहतरी का मामला हो अथवा रोजगार है, हर क्षेत्र में सरकार तेजी से आगे बढ़ी है।

रोडमैप की समीक्षादिए निर्देश

मुख्यमंत्री चौहान ने सभी विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास कार्य के लिए बनाए गए रोडमैप की समीक्षा की। उन्होंने स्मार्ट सिटी के 2130 करोड़ तथा अमृत योजना के 730 करोड़ के कार्यों की समीक्षा की। स्मार्ट सिटी के कार्यों के संबंध में उन्होंने कहा कि इस योजना में एतिहासिक धरोहरों का संरक्षण, स्मार्ट रोड का निर्माण, खेल मैदान, डिजिटल म्यूजियम जैसे सराहनीय कार्य किए जा रहे हैं। कार्यों की गुणवत्ता बेहतर होनी चाहिए। रोड मैप में पर्यटन, शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्योग से जुड़ी प्रस्तावित योजनाओं की भी उन्होंने विस्तृत समीक्षा की। बैठक में संभागायुक्त आशीष सक्सेना, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह के अलावा स्मार्ट सिटी सीईओ जयति सिंह तथा निगमायुक्त शिवम वर्मा ने अपने विभागों से जुड़ी योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी।

इन योजनाओं पर खर्च होगी राशि

पांच साल के रोडमैप में शामिल लगभग 418 करोड़ रूपए का वेस्टर्न बाइपास (निरावली से पनिहार तक), स्वर्ण रेखा पर लगभग 850 करोड़ रुपए की लागत से प्रस्तावित एलीवेटेड रोड, स्मार्ट सिटी के तहत बनने जा रही 299 करोड़ लागत की स्मार्ट रोड, 340 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन एक हजार बिस्तर का अस्पताल, 240 करोड़ की लागत से प्रस्तावित रेलवे स्टेशन का उन्नयन व सौंदर्यीकरण, लगभग 70 करोड़ लागत का अंतर्राज्यीय बस अड्डा, लगभग 145 करोड़ लागत से बनने जा रहा दिव्यांग स्टेडियम तथा  50 करोड़ लागत के अंतर्राष्ट्रीय खेल मैदान व अन्य कार्य, कालीन पार्क, स्टोन पार्क, गारमेंट पार्क, आईटी पार्क आदि शामिला है।

कांग्रेसी विधायकों ने दिया धरना

कार्यक्रम में कांग्रेसी विधायकों को न बुलाने पर उन्होंने फूलबाग स्थित सीएम के कार्यक्रम के पास सड़क पर धरना दिया। विधायक लाखन सिंह यादव व सतीश सिंह सिकरवार ने कहा कि विकास कार्यों के भूमिपूजन व लोकोर्पण में उनकी विधानसभा क्षेत्र के भी कार्य थे, इसलिए उन्हें भी मंच पर स्थान देना था। लेकिन भाजपा ने ऐसा न कर प्रोटोकॉल की अवहेलना की है। हालांकि कार्यक्रम के बाद वे सीएम को ज्ञापन देने पहुंचे।

युवक ने केरोसिन डाला

फूलबाग मैदान में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुरैना के कुछ किसानों ने हंगामा किया और कलेक्टर को हटाने की मांग की। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर उनके बीच पहुंचे और शांत करा दिया। कुछ देर बाद एक युवक ने केरोसिन उड़ेल लिया। यह देखते ही पुलिसकर्मी उसे पकड़कर बाहर ले गए।

Load More Related Articles
  • vbn

    Event …
  • lmn

    हल्ला-बोल …
  • klm

    आपकी-आवाज …
Load More By gwalior
Load More In सियासत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

vbn

Event …