Home अपना शहर अपराध फर्जी रेवेन्यू इंस्पेक्टर रिश्वत लेते गिरफ्तार, लोकायुक्त ने रंगे हाथ पकड़ा

फर्जी रेवेन्यू इंस्पेक्टर रिश्वत लेते गिरफ्तार, लोकायुक्त ने रंगे हाथ पकड़ा

8 second read
0
0
33

नक्शा दुरुस्त कराने के लिए आरआई (रेवेन्‍यू इंस्‍पेक्‍टर) बनकर सोबरन सिंह रजक द्वारा 20000 रुपए रिश्वत की मांग की गई थी।

द ग्वालियर। लोकायुक्त पुलिस ग्वालियर (Lokayukt Police Gwalior) ने बुधवार को फर्जी आरआई (रेवेन्‍यू इंस्‍पेक्‍टर) को 20 हजार रुपए की रिश्‍वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। लोक सेवा केंद्र डबरा (Lok Seva Kendra Dabra) के संचालक के पद पर पदस्थ लखपत सिंह की शिकायत पर पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त ग्वालियर संजीव सिन्हा (SP Lokayukt Sanjiv Shinha) के निर्देश पर कार्रवाई की गई।

लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक संजीव सिन्हा ने बताया कि लोक सेवा केंद्र डबरा में पदस्थ लखपत सिंह की भूमि घाटीगांव अनुभाग के ग्राम सिमरिया टाका में है, जहां नक्शा दुरुस्त कराने के लिए आरआई बनकर सोबरन सिंह रजक द्वारा 20000 रुपए रिश्वत की मांग की गई थी। लखपत सिंह ने मामले की शिकायत लोकायुक्‍त में की थी।

मामले को गंभीरता से लेते हुए रानीलता के नेतृत्व में टीम बनाकर रिश्‍वत लेने वाले को दबोचने की योजना बनाई गई। बुधवार को लोक सेवा केंद्र डबरा कार्यालय पर सोबरन सिंह रजक को लोकायुक्त पुलिस ने 20000 रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया। जब लोकायुक्त ने सोबरन सिंह रजक से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने बताया कि मैं तो एक मोहरा हूं। वह काम रिटायर एएसएलआर बलराम मोदी व एक अन्‍य के लिए करता है। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन पर तीनों लोगों पर लोकायुक्त पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

Load More Related Articles
  • vbn

    Event …
  • lmn

    हल्ला-बोल …
  • klm

    आपकी-आवाज …
Load More By gwalior
Load More In अपराध

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

vbn

Event …