अमर्यादित टिप्पणी के विरूद्ध भाजपा ने दिया धरना, उमाशंकर गुप्ता ने कहा हम गरीब का कल्याण करते हैं और कांग्रेसी खून चूसती है

द ग्वालियर। कांग्रेस नेता द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर अमर्यादित टिप्पणी करने के विरोध में भारतीय जनता पार्टी द्वारा पूर्व केबिनेट मंत्री उमाशंकर गुप्ता के नेतृत्व में धरना दिया गया है। इस दौरान उन्होंने कहा कि हम गरीबों का कल्याण करते हैं और कांग्रेसी गरीबों का खून चूसते हैं। दिग्गी के दस साल में क्या हुआ और 15 साल की हमारी शिवराज सरकार ने गरीबों के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं बनाई। पिछले 15 महीने के बंटाधार शासन ने लगातार गरीबों को झूठ बोलकर शासन चलाया, एक भी वायदा पूरा नहीं किया। मंत्रालय दलालों के अड्डे बन गए थे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को अपने मंत्रियों से मिलने तक का समय नहीं था। कमलनाथ के पास अपनी गरीब जनता के विकास के लिए पैसा नहीं था, लेकिन आइफा के लिए 55 करोड़ थे। पहले ही दिन वचन पत्र को कूड़ादान में फेंक दिया। कांग्रेसी इसलिए अमर्यादित बयान दे रहे हैं कि वह जानते हैं कि शिवराज सरकार अंगद की पैर की तरह है और प्रदेश में इस उपचुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो जाएगा।

सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि इस टिप्पणी की जितनी निंदा की जाए, उतनी कम है। चांद पर थूकने का क्या हर्ष होता है, यह अब कमलनाथ और उनके नेताओं को अब मालूम चल जाएगा। जनता मानने लगी है कि 15 महीने पहले हमने कांग्रेस की सरकार बनाकर गलती की थी और अब मौका है कि भाजपा की सरकार मजबूती से काम करें। जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी ने कहा कि कांग्रेस के पास न तो आचार है, न ही विचार और न ही व्यवहार। कांग्रेस नेताओं की टिप्पणी से केवल मुख्यमंत्री का अपमान नहीं, बल्कि हर गरीब वंचितों का अपमान है। यह बयान हताशा और निराशा का परिचय है। कमलनाथ बताएं कि 15 महीने के अपने कार्यकाल में उन्होंने क्या किया कि व देश के सबसे बडे़ उद्योगपति बन गए। भाजपा के वरिष्ठ नेता वेदप्रकाश शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के नेता अमीर हो सकते हैं। बडे़ व्यापारी हो सकते हैं। साधन संपन्न हो सकते हैं। पर मैं गारंटी से कहता हूं कि वो बुद्धि से कंगाल हैं। व्यवाहारिकता में गरीब हैं और मानसिकता से नंगे हैं।

उन्होंने कहा कि यदि शिवराज सिंह भूखे नंगे हैं तो हम सब कार्यकर्ता शिवराज हैं। कांग्रेस के इस बयान से असंख्य गरीबों को अपमान किया है, जिसकी हम घोर निंदा करते हैं। इस अवसर पर प्रदेश के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर, जयसिंह कुशवाह, देवेश शर्मा, उदय अग्रवाल, राकेश जादौन, जयप्रकाश राजौरिया, बालखांडे, रामवरन गुर्जर, शरद गौतम, महेश उमरैया, रामसुंदर सिंह, कनवर मंगलानी, रविंद्र सिंह राजपूत, मधुसूदन भदौरिया, आरके गुप्ता, अरूण तोमर, वेदप्रकाश शिवहरे, अजीत बरैया, उपेंद्र बैस, मनीष राजौरिया, पप्पू बडौरी, रीना सोलंकी, कमला सोनी, विनती शर्मा, व्यंजना मिश्रा, रेशु राजावत, विवेक चैहान, राजू सेंगर, बिरजू शिवहरे, मनमोहन तिवारी, विनय जैन, हरीश मेवाफरोश, अशोक जैन, अर्जुन जाटव सहित सैकडों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!