एमपी के 5 मरीज ऐसे जिनकी तीसरी रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव, प्रशासन परेशान

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के ग्वालियर से कोविड-19 (covid-19) को लेकर हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां कोरोना के पांच ऐसे मरीज मिले हैं, जिन्हें लेकर प्रशासन परेशान है। असल में यह कोरोना पॉजीटिव मरीज ग्वालियर (corona positive gwalior) जिले के डबरा के रहने वाले हैं।
तीनों मरीज लगातार कोविड-19 टेस्ट में पॉजीटिव आ रहें हैं। ऐसा पहली बार हुआ है जब ग्वालियर में रिपीट टेस्ट के दौरान मरीज पॉजीटिव निकल रहे हैं। इन मरीजों को लेकर अब स्थानीय जयारोग्य अस्पताल (jayarogya hospital gwalior) के डॉक्टरों ने एमपी में गठित कोविड-19 की कमेटी (Committee of covid-19) से सलाह मांगी है।

अगर गाइड लाइन मानते तो पॉजीटिव मरीज हो जाते डिस्चार्ज
इस पूरे मामले को लेकर एक और चौकाने वाला मामला सामने आया है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की गाइड लाइन के मुताबिक पॉजीटिव मरीज आने पर उसे भर्ती किया जाना चाहिए। अगर मरीज में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं दिखते हैं तो उसे दसवें दिन डिस्चार्ज किया जाना चाहिए।
गाइड लाइन में यह नहीं कहा गया है कि लक्षण नहीं दिखने पर डिस्चार्ज के समय जांच की आवश्यकता नहीं है, जबकि ग्वालियर में डॉक्टर्स मरीज के डिस्चार्ज के समय एहतियात के तौर पर जांच करा रहे हैं। खास बात ये है कि डबरा के 5 मरीजों में भी लक्षण नजर नहीं आ रहें हैं, लेकिन जब उनकी तीसरी बार जांच कराई तो वह पॉजीटिव आई।
पांच मरीज ऐसे है जिनकी तीसरी रिपोर्ट भी कोरोना पॉजीटिव आई है। इस मामले में भोपाल से मार्गदर्शन मांगा जा रहा है।
डॉ. ओपी जाटव, विभागाध्यक्ष मेडिसिन, जेएएच, ग्वालियर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!